तेरी साँसें ~ मेरी साँसें: तेरे अनुभव ~ मेरे संग

मेरी कलम से तेरे अनुभव  सोचता हूँ की तेरी हर चीज़ को कितनी आसानी से मैं ‘मेरा’ बना लेता हूँ !  तेरी दी हुई हर साँस को भी मैने अपना कह डाला ।  तेरे दिये हर अनुभव को भी अपना कह छाप डाला ।  फिर भी काफी कुछ मेरा होकर रह ही जाता हैं ।  […]

Read More तेरी साँसें ~ मेरी साँसें: तेरे अनुभव ~ मेरे संग

मेरे अनुभव मेरे संग: my Experiences with myself

‘my Experiences with myself’ –  is compilation of flow of insights, and thoughts, in the form of ‘poetry’  *  ‘मेरे अनुभव मेरे संग’ –  ‘कविता’ के रूप में विचारों एवम्‌ अंतर्दृष्टि के बहाव का संकलन है ।  Selected Poems (Bilingual Edition – Hindi, English) When these thoughts and insights started to pour and fall upon […]

Read More मेरे अनुभव मेरे संग: my Experiences with myself